राजीव गांधी किसान न्याय योजना फॉर्म 2022 Online Registration Apply

राजीव गांधी किसान न्याय योजना फॉर्म 2022 apply at rgkny.cg.nic.in CG Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana Online Registration application form. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी ने यह योजना किसानों की धान की फसल पर लाभ देने के लिए बनाई है । इस योजना का नाम राजीव गांधी किसान न्याय योजना 2022 रखा गया है । इस योजना की शुरुआत वित्त मंत्री ने विधानसभा में  बजट का बनाते हुए की थी । इस योजना से किसानों को उनकी धान की सही राशि दी जाएगी।

राजीव गांधी किसान न्याय योजना फॉर्म 2022

राजीव गांधी किसान न्याय योजना का मुख्य उद्देश्य इस योजना का मुख्य उद्देश्य यह है कि जिन किसानों को उनकी धान की फसल पर लाभ नहीं मिलता उन किसानों को उनकी फसल के मुताबिक सही राशि प्रदान करना है । यदि कोई किसान इस योजना का लाभ लेना चाहता है तो वह ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवा कर इसका लाभ ले सकता है। सरकार का मुख्य उद्देश्य किसानों की फसल के मुताबिक उन्हें सही राशि प्रदान करना है।

CG Kisan Nyay Yojna इस योजना के लिए सरकार द्वारा 5100 करोड़ की राशि का बजट तैयार किया गया है जो सिर्फ किसानों की फसलों के लिए है । । इस योजना की शुरुआत विधानसभा की मंजूरी से कर दी गई है जो किसान इस योजना में पंजीकरण करता है उसे इस योजना का लाभ अवश्य प्राप्त होगा।

Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana Registration 2022

जैसा कि आप जानते हैं कि भूपेश बघेल जी ने इस योजना की शुरुआत 21 मई 2020 को की थी। इसकी प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। इस योजना में धान, मक्का और गन्ना फसलों के लिए राशि की सहायता की जाएगी। इस योजना के अंतर्गत किसानों को यह राशि बैंकों के माध्यम से दी जाएगी। यह 20 lakh किसानों को दी जाएगी। छत्तीसगढ़ राज्य की सरकार द्वारा 5700 करोड़ की रकम दी गई है, जो कि 4 किस्तों में दी जाएगी।

छत्तीसगढ़ राजीव गांधी न्याय योजना बजट – छत्तीसगढ़ राज्य सरकार के द्वारा बनाई गई राजीव गांधी न्याय योजना के माध्यम से गरीब किसानों को मदद की जाएगी। इस योजना का दायरा खरीफ सीजन 2022 से बढ़ा दिया जाएगा। इस योजना में धान के साथ अन्य फसलें भी शामिल है। सरकार यह भी बताती हैं कि वह किसान हैं जिनके पास भूमि नहीं है, उन्हें 2020 से 2022 के बजट में शामिल किया जाएगा। हर वर्ष उन्हें सरकार की तरफ से एक निश्चित राशि प्रदान की जाएगी।

राजीव गाँधी किसान न्याय योजना फॉर्म
राजीव गाँधी किसान न्याय योजना फॉर्म

CG Kisan Nyay Yojana Apply online

वर्ष 2019-2020 में खरीफ फसल के मौसम में लगभग 19 लाख किसानों ने इस योजना के तहत अपना पंजीकरण कराया था। जिन सभी किसानों ने इस योजना के तहत वर्ष 2019-2020 में अपना पंजीकरण कराया था, उनके खाते में मुख्यमंत्री द्वारा 5628 करोड डाले गए। यह राशि किसानों को 4 किस्तों में भेजी गई।

राजीव गांधी किसान निधि योजना पंजीकरण राजीव गांधी के साथ न्याय योजना छत्तीसगढ़ की सरकार द्वारा शुरू की गई है।  इसका लाभ किसानों को दिया जाएगा। योजना में किसानों के द्वारा दी गई फसलों की सही राशि प्रदान करनी है।  इसका लाभ तभी प्राप्त होगा यदि उम्मीदवार पंजीकरण करवाएगा। यदि इच्छुक लाभार्थी पंजीकरण करना भी चाहता है तो 30 नवंबर 2020 से पहले करवा सकता है, तथा वह रजिस्ट्रेशन भी करवा सकता है। पंजीकरण या रजिस्ट्रेशन करवाने के बाद भी आवेदक को लाभ प्राप्त होगा। इस योजना का लाभ 2022 से शुरू होगा।

किसानों को मिली राशि की पहली किस्त राजीव गांधी किसान न्याय योजना राज्य के किसानों को सहायता प्रदान करने के लिए शुरू की गई थी। साथ ही यह योजना किसानों की आय बढ़ाने के लिए बनाई गई है। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने 21 मई 2022 को एक प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन किया। इस सम्मेलन में मुख्यमंत्री ने राशि की पहली किस्त के रूप में 1500 करोड़ रुपये किसान के बैंक खाते में भेजे।

इसके अलावा, सरकार इस योजना के तहत खरीफ सीजन के तहत किसानों को इनपुट सहायता के रूप में 9000 रुपये प्रति एकड़ भी प्रदान करेगी। धान का उत्पादन करने वाले किसानों को हर साल इसी दर से भुगतान किया जाएगा।

योजना का नाम राजीव गाँधी किसान न्याय योजना
लाभार्थी छत्तीसगढ़ के किसान
इनके द्वारा घोषणा की गयी मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी के द्वारा
उद्देश्य किसानो को धान की अंतर की राशि प्रदान करना

Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana Form 2022

राजीव गांधी किसान अधिकार योजना में बदलाव

छत्तीसगढ़ सरकार ने इस योजना में कुछ बदलाव किए हैं। यदि किसान गन्ना, अरहर, दलहन, तिलहन, सुगंधित धान, फोर्टिफाइड धान आदि मक्का, सोयाबीन, कोडो कुटकी जैसी फसलों का उत्पादन करते हैं, जो समर्थन मूल्य पर धान बेचते हैं और यदि वे अपने पौधे लगाते हैं तो उन्हें इनपुट सहायता के रूप में 10000 रुपये मिलेंगे वर्ष 2020-2022 में।

यह अनुदान सरकार द्वारा सभी बागान किसानों को 3 साल के लिए प्रदान किया जाएगा। इसके अलावा खरीफ वर्ष 2022-22 में धान की फसल के साथ-साथ मक्का, सोयाबीन, गन्ना, कोदो कुटकी, अरहर आदि खरीफ फसलों का उत्पादन करने वाले सभी किसानों ने भी ₹9000 प्रति एकड़ प्रति वर्ष की सहायता प्रदान की। छत्तीसगढ़ सरकार ने न्यूनतम समर्थन मूल्य 3000 रुपये प्रति क्विंटल निर्धारित किया है।

राजीव गांधी न्याय योजना का मणि मकसद किसानों का उत्पादन बढ़ाना इस योजना का मुख्य उद्देश्य है।किसानों को अनुदान राशि उपलब्ध कराकर यह वृद्धि की जाएगी। सभी पात्र किसानों को सालाना राशि प्रदान की जाएगी। सभी किसानों को अनुदान राशि प्राप्त कर फसल उत्पादन बढ़ाने के लिए प्रेरित किया जाएगा।

राजीव गान्धी किसान न्याय  योजना का गठन निर्माण ये गठन इसलिए बनाये गए ताकि  किसानों को  अगर कोई समस्या हो तो उसका निवारण किया जा सके ।  इस  योजना को आम लोगों  तक  पहुँचाने  में आने वाली मुश्किलों  का निवारण करना  है । योजना का प्रचार करना ताकि लोगों को इसका फ़ायदा मिल सके और  उनको  हुए फायदे के बारे में जानना  जिससे दूसरे कृषि करने वाले भी इस योजना का फ़ायदा ले सके.

Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana Online Form

राजीव गांधी किसान न्याय योजना से मिलने वाला फ़ायदा :

छत्तीसगढ़ सरकार ने यह योजना इसलिए शुरू की ताकि  देश को धान के अंतर की राशि का लाभ मिले । इससे राज्य के कृषक धान की खेती अच्छे से कर सकते हैं । राजीव गांधी किसान न्याय योजना

से खेती करने वालों की आमदन बढ़ेगी । धान के अलावा खेती करने वालों के लिए भी राजीव गांधी किसान न्याय योजना फायदेमंद साबित हुई है ।   दूसरी फसलों के साथ-साथ वो कृषक भी इस योजना का लाभ ले पाएंगे जिनके पास ज़मीन नहीं है ।

राजीव गांधी किसान न्याय योजना के लाभ लेने के लिए योग्यता :

सभी खेती करने वाले ग्रामीण एवं वन पत्तादार राजीव गांधी किसान न्याय योजना का फ़ायदा लेने के योग्य होंगे पर  रेगहा, बटाईदार, पत्तेदार किसान इस योजना के योग्य नहीं होंगे। योजना के लिए आवेदक की योग्यता का निर्धारण कृषि क़ानून के आधार पर ही होगा । साथ ही आवेदक छत्तीसगढ़ का स्थाई निवासी भी होना चाहिए । आवेदक की मृत्यु की स्थिती में उसके स्थान पर नामांकित व्यक्ति को योजना का लाभ मिलेगा । इस योजना में आवेदन करने के लिए आवेदक के पास आवश्यक साक्ष्य ऋण पुस्तिका, बी–1, आधार नंबर, बैंक खाते की प्रतिलिपि सलग्न करनी है ।

Rajiv Gandhi Kisan Nyay Application Form

आवेदन प्रक्रिया  – राजीव गांधी किसान न्याय योजना में आवेदन के लिए सरकार ने एक वेवसाइट बनाई है  । इस योजना में पंजीकरण करने के दो तरीक़े हैं : ऑनलाइन आवेदन जिसमें आवेदक वेवसाइट पर जा कर आवेदन कर सकता है । दूसरा ऑफ़लाइन आवेदन है । इसमें आवेदक ग्राम के किसान सहकारी सीमिति में जा कर आवेदन कर सकता है ।

ऑनलाइन आवेदन

सबसे पहले आवेदक को राजीव गांधी किसान न्याय योजना की प्रामाणित वेबसाइट पर जा कर क्लिक करना है।

Rajiv Gandhi Kisan Nyay Registration
Rajiv Gandhi Kisan Nyay Registration

फिर कंप्यूटर स्क्रीन पर सामने होम पेज खुल जायेगा ।

इस होम पेज पर राजीव गांधी किसान न्याय योजना के ऑनलाइन लिंक पर क्लिक करना है ।

ऑनलाइन लिंक पे क्लिक करने के बाद राजीव गांधी किसान न्याय योजना का फॉर्म आ जायेगा।

इस फॉर्म पर पूछी गई जानकारी सही सही भरनी है । जानकारी में आवेदक का फ़ोन नंबर , आधार नम्बर , स्थाई पते का प्रमाण आदि भरना है । जानकारी से जुड़े सभी आवश्यक साक्ष्यों को फार्म के साथ वेवसाइट  ही डालना है ।

ये सब करने के बाद सब्मिट के विकल्प पे क्लिक करना है । इस तरह से ऑनलाइन आवेदन पूरा होगा ।

ऑफ़लाइन आवेदन की प्रक्रिया

ऑफ़लाइन आवेदन के लिए कृषक को कृषि विस्तार अधिकारी के पास जा कर राजीव गांधी किसान न्याय योजना का आवेदन फॉर्म लेना है । इस फॉर्म में पूछी गई सारी जानकारी को सही सही भर कर फॉर्म के साथ ऋण पुस्तिका, बी–1, आधार नंबर, बैंक खाते की पासबुक की प्रतिलिपि,

rajiv gandhi kisan nyay form
rajiv gandhi kisan nyay form

पते का प्रमाण पत्र आदि संलग्न करना है । फिर कृषि विस्तार अधिकारी आवेदक द्वारा फॉर्म में दी गई जानकारी की जांच करके सरकार द्वारा तय समय में उस जगह की कृषि साख समिति में जमा करवा देगा । और किसान को योजना का लाभ मिलने लगेगा ।

अंततः छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा शुरू की गई  राजीव गांधी किसान न्याय योजना छत्तीसगढ़ के किसानों के लिए वरदान सिद्ध हुई है। इस योजना से किसान खेती करने में रूचि लेने लगे हैं । राजीव गांधी किसान न्याय योजना का फ़ायदा ना सिर्फ धान की खेती करने वालों को मिला है बल्कि दूसरी फसलों को उगाने वालों को भी मिला है।

छत्तीसगढ़ के किसानों को आत्मनिर्भर बनने में मदद मिली है ।